इनकम टैक्स रिटर्न फाइल (ITR File) कैसे करे

SHARE

जब बात आती है इंकम टैक्स फ़ाइल करने की तो बहोत से लोग घबरा जाते है की अरे यार अब हम इतना काम रहे है तो हमें इंकम टैक्स (income tax) भरना पड़ेगा सरकार को लेकिन सोचते है कैसे बहोत से लोगों का जो पूरे साल का इंकम होते है वो इंकम टैक्स के कैटेगॉरी के बिलकुल बॉर्डर पर होता है जिससे बहोत से लोगों के मन में ख़याल आता है छोड़ो ना यार कोन भरेगा बहोत झंझट है लेकिन आपको बता दु की आप खुद से ही घर बैठे ऑनलाइन इंटेरनेट की मदद से इंकम टैक्स फ़ाइल (income tax file) कर सकते है अब सवाल होगा आपके मन में की इनकम टैक्स रिटर्न फ़ाइल (ITR File) कैसे करते है (how to file Income Tax Return in hindi), ये आइटीआर क्या है (what is ITR in hindi) ऐसे की कई सारे सवाल आपके मन में होंगे.

देखिए एक ज़िम्मेदार भारतीय नागरिक होने के कारण ये आपका कर्तव्य बनता है की अगर आप इंकम टैक्स की कैटेगॉरी में आते है सालाना आप ढाई लाख (2.5 Lakh) या इससे ज़्यादा कमाते है तो आपको इसकी इन्फ़र्मेशन यानी की जानकारी सरकार को आइटीआर (ITR) के माध्यम से देनी चाहिए,सायद आपको पता नहि होगा की इससे आपको फ़्यूचर में होम लोन (home loan) , पर्सनल लोन (personal loan) लेने भी बहोत ही मददगार साबित होगा इशलिए आपको हर साल इंकम टैक्स रिटर्न (income tax return) ज़रूर फ़ाइल करनी चाहिए चलिए पहले जानते है कि ये ITR क्या है और इसके फ़ायदे क्या है और एक व्यक्ति की आइटीआर फ़ाइल (ITR File) कब करना चाहिए और उसके बाद जंगे की आख़िर इनकम टैक्स रिटर्न यानी की आइटीआर फ़ाइल (ITR File) कैसे भरे (ITR File in hindi) हाउ टू फ़ाइल आइटीआर पूरी जानकारी हिंदी मे.

इंकम टैक्स रिटर्न फ़ाइल (Income Tax Return) क्या है ?

अगर आप पहली बार इंकम टैक्स फ़ाइल करने जा रहे है तो आपके मन में सवाल ज़रूर होगा की ये आइटीआर (ITR) क्या है, आइटीआर का फुल्ल फ़ॉर्म है इंकम टैक्स रिटर्न (income tax returns) सिम्पल और आसान भासा में कहे तो साल में एक बार आपको अपनी आमदनी यानी की इंकम (income), खर्चे, निवेश या फिर जो भी टैक्स अमाउंट (tax amount) बनता है ये सारी जानकारी आपको एक फ़ॉर्म के ज़रिए देनी होती है जिसे ITR फ़ॉर्म और इसी जानकारी को सरकार को देना इंकम टैक्स रिटर्न फ़ाइल (income tax return) करना कहते है  अब ये आइटीआर फ़ॉर्म कई तरह के होते है जैसे कि आइटीआर 1 (ITR 1), आइटीआर ITR 2 , ITR 3, ITR 4 इत्यादि हर बिज़्नेस (business) , व्यक्ति (person) के लिए फ़ोरम को अलग अलग भागो में बाटा जाता है.

इंकम टैक्स रिटर्न फ़ाइल (income tax return) कब करना चाहिए ?

अब आपने मन में सवाल होगा आख़िर एक व्यक्ति को कब इंकम टैक्स रेटरन फ़ाइल करना होगा एक व्यक्ति की इंकम (income) अगर एक साल में यानी की 1 April से 31 March यानी अगले साल तक अगर कुल आय यानी की टोटल इंकम (total income) ढाई लाख (2.5Lakh) पार कर जाती है तो ऊस व्यक्ति को इंकम टैक्स फ़ाइल करना ज़रूर है अब ये जो कुल आए ये सरकार तेय करती है और हर साल बजट निकाला जाता है कुछ छूट भी दी जाती है

इंकम टैक्स फ़ाइल (ITR) करने के लिए ज़रूरी डॉक्युमेंट्स
  • फ़ॉर्म -१६ (form 16) : ये फ़ॉर्म जो लोग सैलरी पे काम करते है उनके लिए बेहद ज़रूर होता है इसमें सलरी की डिटेल्ज़ और टीडीएस (TDS) की जानकारी होती है
  • फ़ॉर्म 26AS
  • टैक्स सेविंग इंवेसमेंट के प्रोफ़्फ़ : अगर आपने कोई इन्वेस्टमेंट किया है उसके सबूत
  • बैंक होम लोन स्टेट्मेंट अगर लोन लिया है तो
  • आधार कार्ड (aadhar card)
  • पैन कार्ड (Pan card)
  • जितने भी ज़रूरी डिडक्शन लेने है उनकी जानकारी
इंकम टैक्स रेटरन फ़ाइल (income tax return) करने के फ़ायदे?

अब आप सोच रहे होंगे यार हमें आइटीआर फ़ाइल (ITR File) करने की क्या ज़रूरत है क्यों हम अपना पैसा (money) सरकार को क्यों दे, सरकार के पास खुद इतने सारे पैसे है हम अपना पैसा क्यों दे देखिए सायद आपको पता होगा की जो सरकार का पास पैसा पैसा आता है जिससे सरकार चलती, पुलिस, सरकारी हॉस्पिटल (Govt  Hospital), जीते भी सरकारी काम होते है सरकार उन सब को पैसा कहा से देगी तो सारा पैसा टैक्स के माध्यम से सरकार के पास जाता है और और सरकारी इनहि पैसे का इस्तेमाल सरकारी चलाने के लिए करती है इशलिए हमें टैक्स ज़रूर भरना चाहिए और टैक्स भरने के बहोत सारे फ़ायदे भी होते है.

  • टैक्स भरने से सरकार चलता है देश कि उन्नति होगी
  • लोन आसानी से मिलना : जब आप किसी भी तरह के लोन चाहे होम लोन (home loan) या पर्सनल लोन (personal loan) लेते हो तो बैंक (bank) हमेशा आपसे आईटीआर (ITR) ज़रूर माँगे है अगर आप आईटीआर (ITR) भरते हो तो लोन आसानी से मिल जाता है
  • वीज़ा (visa) मिलने में आसानी : अगर आप बाहर कंट्री कभी घूमने जाते हो या फिर बिज़्नेस के काम से जाते हो तो आईटीआर से आपको वीज़ा बहोत आसानी से मिल जाता है
  • टैक्स रीफ़ंड मिलना (tax refund) : अगर आप गलती से ज़्यादा टैक्स भार देते हो सरकार को तो आईटीआर (ITR) से आप आसानी से रीफ़ंड पा सकते हो वो पैसे

इनकम टैक्स रिटर्न फ़ाइल (ITR File) कैसे करे ?

पहली बार अगर आप आइटीआर फ़ाइल (ITR File) करने जा रहे है तो आपको कुछ बेसिक्स जानकारी होनी चाहिए जैसे कि असेस्मेंट ईयर (Assessment Year) क्या है , फ़ायनैन्शल ईयर (Financial Year) क्या है और साथ में ये ITR 1, ITR2, ITR3, ITR4 क्या है इनमे क्या अंतर है तभी इंकम टैक्स फ़ाइल (income tax file) करते वक्त कोई गलती न हो इन सभी चीजों की जानकारी आप ऑनलाइन इंटेरनेट की मदद से पा सकते है या फिर आपको इंकम टैक्स की अफ़िशल वेब्सायट में जाके भी जानकारी प्राप्त कर सकते है चलिए अब हम सीधा जानते है की कैसे ऑनलाइन इंकम टैक्स रिटर्न फ़ाइल (online income tax return file) कैसे करे स्टेप बाई स्टेप गाइड

स्टेप 1: इंकम टैक्स (Income Tax) की वेबसाइट पे जाए

इंकम टैक्स ऑनलाइन फ़ाइल करने के लिए सबसे  आपको ऑनलाइन income tax की अफ़िशल वेब्सायट में जाना होगा जहाँ से आप टैक्स फ़ाइल (tax file) कर सकते है जिसे ई-फ़ाइलिंग (E-Filing) भी कहते है तो आप सिम्प्ली वेब्सायट के ब्राउज़र में https://incometaxindiaefiling.gov.in टाइप करके डिरेक्ट वेब्सायट पे जा सकते है

अब आपके मन में सवाल होगा यार चलो अब हम यहा पर तो आ गए है लेकिन अब लॉगिन करने के लिए हमारे पास इस वेब्सायट का लॉगिन आइडी पास्वर्ड नहि तो कैसे इंकम टैक्स अकाउंट (income tax account) बनाए, बहोत ही आसान है इंकम टैक्स अकाउंट बनाना  सिम्पल इसके लिए register youself पे क्लिक करे अगर पहले से रेजिस्टर है तो login here पे क्लिक करे और यहा पर अपनी सारी डिटेल्ज़ भरे

ITF FILE Register in hindi
  • सलेक्ट यूज़र टाइप (select user type) :अगर आप इंडिविजूअल हो यानी सिंगल पर्सन हो यानी खुद टैक्स भरना चाहते हो तो individual पे क्लिक करे और फिर कंटिन्यू पे क्लिक करे
  • Pan : पैन नम्बर में अपना अपना पैन नम्बर डाले
  • फिर सरनेम और फ़र्स्ट नेम भरे
  • नेक्स्ट में डेट ओफ़ बर्थ डाले जो आइडी में है
  • फिर रेज़िडेंसियल स्टैटस में रेज़िडेंट सलेक्ट फिर continue पे क्लिक करके

स्टेप 2: अब लॉगिन करे इंकम टैक्स की वेबसाईट पे

जैसे ही आपने इंकम टैक्स अकाउंट बना लिया होग उसके बाद हो सकता है आपको दुबारा सा लॉगिन करना पड़े तो इसके लिए आप लॉगिन पे क्लिक करके सीधा लॉगिन कर सकते है तो यहा पर लॉगिन फ़ोर्म ओपन हो जाएगा तो इसमें आपको

  • User id : इसमें आप अपना पैन कार्ड नम्बर डाले जो आपके पैन कार्ड में दिया है
  • Password : पास्वर्ड डाले जो आपके रेजिस्टर करते वक्त डाला था
  • Date of birth : इसमें अपने जनम तिथि डाले जो रेजिस्टर करते वक्त डाला था
  • Captcha code : अब ऊपर बड़े बड़े लेटेर में जो लिखा है उसे एंटर करे और लॉगिन पे क्लिक करे

स्टेप 3: E-File पे क्लिक करे फिर Income Tax Return पे क्लिक करे

अब जैसे ही आप लॉगिन करते हो तो ऊपर की साइड लेफ़्ट हैड में आपको e-File का ऑप्शन मिलेगा जैसे की आप इसके ऊपर माउस ले जाओगे तो आपको बहोत सारे ऑप्शन मिलेंगे आपको बस Income Tax Return ऑप्शन पे क्लिक करना है ITR File करने के लिए.

income tax return file

स्टेप 4: अब अस्सेमेंट ईयर और ITR Form सलेक्ट करे

नेक्स्ट स्टेप में अब आपको एक फ़ोरम मिलेगा जिसमें आपको अपना पैन कार्ड नम्बर (pan card number) डालना होगा फिर अस्सेसमेंट ईयर चुने आइटीआर फ़ोरम (ITR Form) सलेक्ट करे फ़ोर सब्मिशन मोड़ चुने इसके बाद एक ऑप्शन चुने की आपको कैसे वेरिफ़ाई करना है तो सिम्पल आधार ओटीपी (aadhaar otp) चुने इससे आपको वेरिफ़ाई करना होगा फिर I want to use पे टिक करे फिर कंटिन्यू पे क्लिक करे

  • पैन कार्ड सलेक्ट करे
  • Assessment Year चुने
  • ITR Form सलेक्ट करे
  • File टाइप में Original/Revised Return चुने
  • Submission mode में submit ऑनलाइन को चुने
  • Continue पे क्लिक करे

स्टेप 5: अब ITR Form भरे

जैसा ही आप ये सारा काम कर लेते है अब सबसे ज़रूरी काम आता है जो कि है आइटीआर फ़ोर्म (ITR Form) भरना , अब आप सोचोगे की आख़िर आइटीआर फ़ॉर्म (ITR Form) कैसे भरते है ? इसके लिए आपके सामने सात कोलम होंगे जैसे की instructions, part a general information, tax details इत्यादि ऑप्शन मिलेंगे सभी को बारी बारी से पढ़े

ITR FORM
  • Instructions पढ़े
  • part a general information और डिटेल्ज़ चेचक करे
  • नेक्स्ट टैक्स पे टैक्स डिटेल्ज़ भरे ज़रूर चीजें  कॉम्प्यूटेशन में
  • Tax details में ज़रूरी इन्फ़र्मेशन भरे
  • Tax paid & Verification पे टैक्स वेरिफ़ाई करे
  • Tax deduction के लिए Donation-80G पे क्लिक करे

स्टेप 6: अब submit पे क्लिक करे

सारे काम हो जाने के बाद एक बार फ़ॉर्म को अच्छे से चेक ज़रूर करलेना की आपने जो भी डिटेल्ज़ डाली है क्या वो सही है वेरिफ़ाई करले अगर फ़ोरम भरने में दिक़्क़त आ रही है तो ऐसे में आपको सलाह दूँगा की आपको सीए यानी की चार्टेड अकाउंटंट (Charted Accountant) का सपोर्ट ले वो आपको अच्छे से भरना सिखा देगा

ITR Submit kare

स्टेप 7: अब ITR फ़ाइल वेरिफ़ाई करे

अब आपने आइटीआर फ़ाइल (ITR File) तो करदिया है लेकिन अब आपको इसे वेरिफ़ाई भी करना होता है अब वेरिफ़ाई करने के दो तरीक़े होते है एक तो आप आइटीआर फ़ाइल की फ़िज़िकल कॉपी को हेडकोटर भेज सकते है बैंगलोर या फिर आप ऑनलाइन e verify भी कर सकते है तो आइटीआर ऑनलाइन e verify करने के लिए आपको सिम्प्ली verify पे क्लिक करे इसे वेरिफ़ाई कर सकते है सिम्पल आपके फ़ोन में एक कोड आएगा उसे डाल कर आप वेरिफ़ाई कर सकते है

  • Dashboard पे क्लिक करे
  • View return/form पे क्लिक करे
  •  Income tax return पे क्लिक करे
  • अब फ़ाइल करे ITR के Ack. No. नीचे मिलेगा
  • E-Verify पे क्लिक करे
  • Aadhar otp पे क्लिक करे
  • Generate aadhaar otp पे क्लिक करे
  • अब otp डाले और I Agree पे क्लिक करे फिर submit पे क्लिक करे
  • अब यहा से आपको ITR File को वेरिफ़ाई कर सकते

देखा आपने घर बैठे ऑनलाइन एक आइटीआर फ़ाइल (ITR File) करना कितना आसान है बस आपको थोड़ी से टेकनिकल जानकारी होनी चाहिए अब अगर अभी भी आपको आइटीआर फ़ाइल करने में दिक़्क़त आ रही है तो आप किसी भी प्रफ़ेशनल सीए की मदद ले सकते है वो आपको अच्छे से बता देगा की आइटीआर फ़ाइल कैसे किया जाता है

NO COMMENTS