सिविल इंजीनियर (Civil Engineer) कैसे बने ?

सिविल इंजीनियर (Civil Engineer) कैसे बने ?

SHARE

कहा जाता है स्कूल लाइफ सबसे अच्छा होता है क्योंकी स्कूल लाइफ में लोगो को कुछ सोचने की जरुरत नही होती है बस पढाई करते रहे लेकिन जैसे ही 12वी पास करलेते है उसके बाद बच्चो को करियर के बारे में सोचना होता है और करियर कितना इम्पोर्टेन्ट हो जाता है स्कूल लाइफ के बाद ये सायद अभी आपको पता न चलते लेकिन एक बाद आप स्कूल पास आउट कर जाओगे तभी आपको करियर बनाने का एहसास होगा अब ऐसे में कई सरे लोग सिविल इंजीनियरिंग (Civil Engineering) करके आगे जाके सिविल इंजिनियर (Civil Engineer) बन्ना चाहते है लेकिन कई लोगो को पता नहीं होता की आखिर एक सिविल इंजिनियर बन्ने के लिए क्या क्या करना होता है कोनसी पढाई करनी होती है तो आज के इस आर्टिकल में हम आपको बताएँगे की सिविल इंजिनियर कैसे बने पूरी जानकारी ? (How to become a Civil Engineer tips in hindi) हाउ टो बिकम अ सिविल इंजिनियर टिप्स इन हिंदी.

सिविल इंजिनियर बनना इतना आसान नहीं है इसके लिए आपको कड़ी मेहनत करनी होगी अगर आप आगे जेक सिविल इंजीनियरिंग में करियर बनाना चाहते है कयी आप सिविल इंजिनियर की पढाई को मजाक मजाक में लेके पढ़े और फिर आप आगे जाके आपको जॉब की कोई उम्मीद न हो इसलिए जो भी पढ़े अपना 100% दो तभी आप एक अच्छे इंजिनियर बनना पाओगे , सिविल इंजिनियर (Civil Engineer) में आप आगे जाके बहोत ही अच्छा और बेहतर करियर बना सकते है अगर आप इसकी पढाई मन लगाकर करे तो चलिए आइये जान लेते है की आखिर में कैसे आप कैसे सिविल इंजिनियर बन सकते है इसके लिए क्या क्या क्वालिफिकेशन चाहिए उससे पहले जानते लेते है आखिर सिविल इंजीनियरिंग क्या है what is Civil Engineering in hindi व्हाट इस सिविल इंजीनियरिंग इन हिंदी.

सिविल इंजीनियरिंग क्या है ? (What is Civil Engineering in hindi)

आसान भाषा में कहे तो सिविल इंजीनियरिंग एक तरह का प्रोफेशनल इंजीनियरिंग कोर्स होता है जिसकी पढाई पूरी करने के बाद आप एक सिविल इंजिनियर (Civil Engineer) कहलायेंगे, सिविल इंजिनियर का काम होता है डिजाईन , कंस्ट्रक्शन , रोड (Road) , बिल्डिंग (Building), घर बनाना , बांध(Dam) इत्यादि से सभी काम एक सिविल इंजिनियर करता है उदाहरण : घर की डिजाईन कैसा होगा , रोड कैसे बनेगी इसमें क्या क्या सामान लगेगा  इत्यादि से सारे काम एक सिविल इंजिनियर का होता हो जी की एक जिम्मेदारी वाला काम है

सिविल इंजीनियरिंग आपको दो तरह से कर सकते है एक होता है डिप्लोमा इन सिविल इंजीनियरिंग (diploma in civil engineering) जिन्हें हम जूनियर सिविल इंजिनियर (Junior civil engineer) भी कहते है जो की 3 साल का होता है जो आप 10th पास के बाद कर सकते है और एक होता सीनियर सिविल इंजीनियरिंग जो की आप 12वी के बाद जो की पुरे 4 साल का कोर्स होता है सिविल इंजीनियरिंग में डिग्री पूरी सिविल इंजीनियरिंग में डिग्री पूरी करने के बाद आप चाहते तो पोस्ट ग्रेजुएशन (Post graduation) के लिए अप्लाई कर सकते है जिसे हम मास्टर इन सिविल इंजीनियरिंग (Master in civil engineering) भी कहते है

सिविल इंजीनियरिंग में आपको कुछ तरह तरह के इंजिनियर विषय मिलेंगे जैसे की कंस्ट्रक्शन इंजीनियरिंग (Construction Engineering) ,  कोस्टल इंजीनियरिंग (Coastal Engineering) , अर्थक्वेक इंजीनियरिंग (Earth Quake Engineering) और भी कई सारे विषय है जिसे आप चुन सकते है और इसमें एक एक्सपर बन सकते है नीचे दिए गया सब दिस्क्प्लींस (Sub-disciplines)

Sub-disciplines list :
  • Coastal engineering (कोस्टल इंजीनियरिंग)
  • Structural engineering (स्ट्रक्चरल इंजीनियरिंग)
  • Construction engineering ( कंस्ट्रक्शन इंजीनियरिंग)
  • Earthquake engineering (अर्थक्वेक इंजीनियरिंग)
  • Environmental engineering (एन्विरोमेंट इंजीनियरिंग)
  • Forensic engineering (फॉरेंसिक इंजीनियरिंग)
  • Geotechnical engineering (जिओटेकनिकल इंजीनियरिंग)
  • Materials science and engineering (मटेरियल साइंस इंजीनियरिंग)
  • Outside plant engineering (आउटसाइड प्लांट इंजीनियरिंग)

सिविल इंजीनियरिंग बनने के लिए योग्यता (Eligibility Criteria  for civil engineer)

  1. सिविल इंजीनियरिंग में एडमिशन के लिए आपके पास 12th में साइंस सब्जेक्ट होना चाहिए जिसमे आपके पास मैथ्स (Maths) , फिजिक्स (Physics) , केमिस्ट्री (Chemistry) सब्जेक्ट से पास होना चाहिए.
  2. 12th में 60% मार्क्स चाहिए अगर आपको कोई एंट्रेंस एग्जाम देना है है सिविल इंजीनियरिंग के लिए जैसे (IIT , AIEEE,) इत्यादि इन सब एग्जाम के लिए 60% मार्क्स चाहिए होते है 12वी में
  3. जूनियर सिविल इंजिनियर (Junior civil engineer) के लिए 10th पास चाहिए
civil engineer
pic : Pixabay

सिविल इंजीनियर कैसे बने पूरी जानकारी ( How to become a Civil Engineer tips in hindi)

 1. 12वी पास करे साइंस सब्जेक्ट से

अगर आपको सिविल इंजीनियरिंग में एडमिशन लेना है तो सबसे पहले आपको 12th क्लास पास करना होगा वो भी मैथ्स(Maths) , फिजिक्स (Physics) और केमिस्ट्री (Chemistry) सब्जेक्ट के साथ इसके अलावा आपके 12 में कम से कम 60% मार्क्स होने तभी आप किसी भी एंट्रेंस एग्जाम के लिए योग्य होने.

इसके अलावा अगर आप 10th के बाद भी सिविल इंजीनियरिंग कर सकते है जो की पॉलिटेक्निक (Polytechnic) जैसे एंट्रेंस एग्जाम को देके कर सकते है ये कुल 3 साल का होता है यानि आप सीधा 10वी के बाद कॉलेज में चले जायेंगे लेकिन ये एक जूनियर सिविल इंजीनियरिंग कोर्स है जिसे हम डिप्लोमा भी कहते है

 2. एंट्रेंस एग्जाम फॉर्म भरे और क्लियर करे

जैसे ही आप 12वी पास करलेते है इसके बाद आपको बीटेक (B.tech) एंट्रेंस एग्जाम जैसे की आईआईटी (IIT) , एआईइइइ (AIEEE) इत्यादि जैसे आल इंडिया लेवल पर एंट्रेंस एग्जाम के फॉर्म को भरे अगर आप सिविल इंजीनियरिंग बेस्ट कॉलेज में एडमिशन (Admission) लेना चाहते है ध्यान रहे इन एक्साम्स को क्लियर करना इतना आसान नही है लाखो बच्चे इस एग्जाम में बैठे है और सिर्फ बुद्धिमान और स्मार्ट स्टूडेंट्स ही इससे क्लियर कर पाते है तो आप इन एंट्रेंस एग्जाम को मजाक में न ले

पुलिस इंस्पेक्टर (Police inspector) कैसे बने ?
डॉक्टर (Doctor) कैसे बने
वकील (Advocate) कैसे बने पूरी जानकारी

इसके अलावा कई सरे ऐसे भी कॉलेज होते है जो स्टेट लेवल पर एंट्रेंस एग्जाम लेते है तो आप उसके लिए अप्लाई कर सकते है और कुछ कॉलेज बिना एंट्रेंस एग्जाम के भी डायरेक्ट कॉलेज में भारती करलेते है डोनेशन देके जो की काफी मेहेंगा पड़ता है इशलिये बेस्ट कॉलेज पाने के लिए आपको एंट्रेंस एग्जाम क्लियर करना बहोत जरुरी है

एंट्रेंस एग्जाम क्लियर करने के बाद आपको काउंसिलिंग (Counselling) करना होता है  जिसमे आपको मार्क्स और रैंक के आधार पर कॉलेज मिलता है जितने अच्छे रैंक उतना ही बेस्ट कॉलेज आपको मिलेगा जिससे आप एक अच्छे सिविल इंजिनियर (Civil Engineer) बन सकते है काउंसलिंग के बाद आपको कॉलेज में एडमिशन लेना होगा

 3. सिविल इंजीनियरिंग बैचलर डिग्री पूरी करे

जैसे ही आप कॉलेज में एडमिशन ले लेते है उसके बाद आपको आपको 4 साल तक कॉलेज में सिविल इंजीनियरिंग की पढाई कराई जाती है इसमें ही आपको बताया जाता ही कैसे एक घर का मेप बनता है कैसे आप एक डिजाईन बना सकते है इत्यादि यही टाइम पे आपको सिविल इंजीनियरिंग के बारे में पढाया जाता है तो आपको ध्यान से पढना है और जिस भी कॉलेज में एडमिशन ले उससे अच्छे से अच्छे मार्क्स लाने है अगर आपको आगे जाके वाकई में सिविल इंजिनियर (Civil engineer) बनना है तो.

 4. इंटर्नशिप करे डिग्री करने के बाद

जैसे ही सिविल इंजीनियरिंग की डिग्री आप पूरी करले इसके बाद इंटर्नशिप (internship) करे ताकि आपको एक्सपीरियंस मिल जाये एक प्रोफेशनल लेवल पर सिविल इंजीनियरिंग के लिए क्यों की अगर आप किसी भी कंपनी में सिविल इंजिनियर के पोस्ट क लिए अप्लाई करते है तो वो आप एक्सपीरियंस के बारे में पूछता है इशलिये ये आपके लिए बेहद जरुरी है की आप डिग्री पूरी करने के बाद इंटर्नशिप करे.

  5. लाइसेंस और सर्टिफाइड के लिए अप्लाई करे

अगर आपको एक सर्टिफाइड सिविल इंजिनियर ( Certified Civil engineer) बनना है और आपके इसके लिए लाइसेंस लेना है तो इससे पहले आपके पास कुछ सालो का एक्सपीरियंस होना चाहिए इसके बाद आप एक प्रोफेशन सिविल इंजिनियर के लिए लाइसेंस के लिए आपको करना होगा जैसे ही आपको लाइसेंस मिल जायेगा तो आप एक प्रोफेशनल सिविल इंजिनियर बन जायेंगे तो इस तरह आप एक सिविल इंजीनियर (Civil Engineer) बन सकते है

NO COMMENTS